#JNU

Eh main kuch din pehla likhi c..Par post hun kar paa reha ‪#‎JNU‬

Kehdne aaj JNU ch ik protest ho gya. Afjal, kasab ohna da guru te Hanumanthappa ohna da dushman ho gya. Desh ch rehan wale hun desh layi khtarnak ho gaye,Jo kal tak chakde c kitaba, aaj oh atwadiya layi aake khlo gaye.

Gal gal ute desh nu bura kehan waleya, tu gaddar hai is bharat mata da…Jo sainik jaag de ne border ute, Tu ki mul payenga ohne di raata da. Saari raat uth uth ke oh apne desh de sewa karde ne. Appa aaram naal so jaiye,Oh has ke goli seene te jarde ne.

Apne desh de rajneta bhi bus votta da fyada chakde ne,Ja ke beh jande ne oh aatwadiya naal, jo Bharat de ute buri aakh rakhde ne.Chad ke rajniti ik baar kathe ho jao, Jo marde ne border te ohna di shahdat da mul pao. desh de khilaf protest karan naalo changa, apni dharti layi kuch kar ke dikhao.

Inder.

ਕਿਸੇ ਦੀ ਕਾਸ਼ ਤੇ ਜੇ ਤਾਂ ਰਹ ਹੀ ਜਾਂਦੀ ਹੈ…

Eh Pehliya 2 lines main FB te dikhiya c, Mainu bahut wadiya lagiya. Main bus ohnu final touch de ta.. hope you all like it

 

ਸਬ ਕੁਛ ਨਹੀ ਮਿਲਦਾ ਜਿੰਦਗੀ ਚ
ਕਿਸੇ ਦੀ ਕਾਸ਼ ਤੇ ਕਿਸੇ ਦੀ ਜੇ ਤਾਂ ਰਹ ਹੀ ਜਾਂਦੀ ਹੈ…
ਜਿਸਦੀ ਜ਼ਿਦਗੀ ਚ ਲਿਖਿਯਾਂ ਹੋਣ ਕਾਮ੍ਯਾਬਿਯਾ
ਕਿਸਮਤ ਓਹਦੇ ਦਰਵਾਜੇ ਤੇ ਆਕੇ ਬੇਹ ਜਾਂਦੀ ਹੈ…
ਸਬ ਕਿਸੇ ਨੂ ਇਸ ਜਹਾਂ ਚ ਸਬ ਕੁਛ ਨਹੀ ਮਿਲਦਾ
ਕਮਲ ਦਾ ਫੁੱਲ ਏਨਾ ਸੋਹਨਾ ਹੋਕੇ ਭੀ ਕੀਚੜ ਚ ਹੀ ਖਿਲਦਾ…
ਪਰ ਕੀਚੜ ਨਾਲ ਕਮਲ ਦੀ ਕੀਮਤ ਨਹੀ ਘਟ ਜਾਂਦੀ
ਸਬ ਕੁਛ ਭੀ ਕਿਸਮਤ ਤੇ ਨਾ ਛਡੋ, ਏਹਦਾ ਕੁਛ ਨਹੀ ਪਤਾ ਕਦ ਰੂਸ ਕੇ ਬੇਹ ਜਾਂਦੀ…

ਕਿਸੇ ਨੂ ਪੈਸਾ ਮਿਲ ਜਾਂਦਾ, ਕਿਸੇ ਨੂ ਪਿਆਰ ਮਿਲ ਜਾਂਦਾ
ਕਿਸੇ ਨੂ 2 ਵਕ਼ਤ ਦੀ ਰੋਟੀ ਨਹੀ ਮਿਲਦੀ, ਤੇ ਕਿਸੇ ਨੂ 5 ਸਟਾਰ ਮਿਲ ਜਾਂਦਾ…
ਇਹ ਸਬ ਕਿਸਮਤ ਦੇ ਲੇਖੇ ਨੇ, ਜੋ ਇੰਦਰ ਨੇ ਦਸ ਤੇ
ਪਰ ਸਬ ਤੋ ਬਦਿਯਾ ਕਿਸਮਤ ਓਹਦੀ, ਜਿਨੂ ਅਪਨੇਆ ਦਾ ਪਿਆਰ ਮਿਲ ਜਾਂਦਾ !

 

Written by Suresh Inder

 

One more aashiqa layi :-)

 

कल देखा उस लड़की को जिसके हम कभी दीवाने थे
वो लगती थी शमा हमें, हम उसके परवाने थे
आज याद आई की उसके लिए क्या क्या नहीं किया करते थे
ऐसे तो नहीं हम उस पे कभी मरते थे…

उसकी गली में जाने को दिल करता था
उसकी इक झलक पाने को दिल करता था
लगती थी वह बड़ी सुन्दर मुझको
तभी तो उसे पाने को दिल करता था
सोचा था की मिलेगी कभी वो हमें
उसके साथ जिंदगी बिताने को दिल करता था
टूट गया वह सपना जब उसका शहर छोड़ आये हम
फिर भी उसे गले लगाने को दिल करता था…

आज दिखी काफी सालो बाद मुझे वो, सब पुरानी यादें ताजा हो गयी
इक पल तो लगा जैसे सारी लाइफ हीरिवाइंड हो गयी…

आज भी लगती है वह मासूम जैसे पहले हुआ करती थी
आज ही मुझको पता चला की वो भी मुझ पे मरती थी…

काश इस समय को मैं  पीछे ले जाता, और उसे जाकर बतलाता
ऐसे नहीं तुम्हारे घर के चक्कर लगता था, तुम्हारी इस मुस्कान देखने को दिल सा मचल जाता था…

अब जाके एहसास हुआ की अब हम इक न हो सकते है.
यह ही जिंदगी का दस्तूर है , प्यार तो आज भी करता हूँ पर दिल मेरा मजबूर है
रहो खुश और हमेशा आबाद रहो, दिल यह ही दुआ करता है
पर इक बात बता दूँ तुमको की INDER आज भी तुम पे मरता है :-)…

Kuch aashiqa layi :-)

तू मिली या ना मिली हमें कोई गम नही…
पर भूल जाये तुझे उनमे से हम नहीं…
तू लगती है इतनी अच्छी मुझको की मैं बतला नहीं सकता…
दिल तो करता है तुझे पाने का पर चाह कर भी पा नहीं सकता…
तू हस्ती रहे मुस्कराती रही, यह जिंदगी तुझपे अपनी खुशिया लुटाती रहे..
पर याद रखना की कोई दीवाना तेरा भी हुआ करता था…
वह आज भी तुझ पे मरता है, वह तब भी तुझे पे मरता था…