Salute to martyrs. Jai hind…

इस देश का आलम यह है यारो…
कल तक जो कहता था की…जाओ उसके घर में घुस कर मारो
आज वही वहां जाकर चाय पीकर आता है.
छोड़ दो चाय पीने की आदत, यह दोस्त नहीं हमारा दुश्मन कहलाता है.
इसे नहीं आती प्यार की भाषा, इसे बताओ जंग के मैंदान में कैसे हराया जाता है

छोड़ Inder ये शाहदत की बातें ,मुझे क्या पता शाहदत क्या होती है.
पूछ जा कर उस माँ से जो किसी कोने में बैठ कर आज भी रोती है.
पर इक बात आती है जेहन में की क्यों होते है यह कत्ले आम.

रोने की आवाज तो उधर से भी आती होगी…क्यूंकि दुश्मन की भी माँ होती है
शहीदो को प्रणाम.. जय हिन्द

 

==================================================================

For all Soldiers

Is desh ka aalam yeh hai yaaro.
Kal tak jo kehta tha ki jao uske ghar mein ghus kar maaro.
Aaj wahi waahan jaa kar chaye pe kar aata hai.
Chod do chaye peene ki aadate,yeh dost nahi hamara dushman kehlata hai.
Ise nahi aati pyar ki bhasha. Ise btao jung ke maidan mein kaise haraya jata hai

Chod Inder yeh hai shadat ke baatein, Hamein kya pta shadat kya hoti hai
Puch jaa kar Us maa se jo kisi kone mein baith kar aaj bhi roti hai
Par ik baat aati hai jehan mein, Kyu hoti hai yeh ladayia
Rone ki awaje toh uudhar se bhi aati hogi,Kyunki dushman ki bhi to MAA hoti hia 🙁

Salute to Martyrs

 

With Love

Suresh Inder

7 thoughts on “Salute to martyrs. Jai hind…”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *